कम तनाव: बेहतर जीवन के लिए तनाव को समझना, रोकना और प्रबंधित करना”

कम तनाव बेहतर जीवन:

कम तनाव बेहतर जीवन
कम तनाव बेहतर जीवन

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी और काम के बोझ से हमारे दिमाग के साथ-साथ शरीर को भी नुकसान पहुंचता है। इसका मुख्य कारण है तनाव या अवसाद।
इसके लिए हमारी दैनिक दिनचर्या और समय के साथ बदलता खान-पान भी तनाव के लिए जिम्मेदार है। यह व्यव्हारिक जीवन में सकारात्मक और नकारात्मक परिवर्तनों की शारीरिक और भावनात्मक प्रतिक्रिया है। जब कोई व्यक्ति तनाव में होता है, तो शरीर एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन जारी करता है, जो शरीर को कथित खतरे का जवाब देने के लिए तैयार करते हैं। जबकि कुछ तनाव फायदेमंद हो सकते हैं, क्योंकि यह किसी व्यक्ति को कार्रवाई करने के लिए प्रेरित कर सकता है, अत्यधिक तनाव का व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसके नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए तनाव को स्वस्थ तरीके से प्रबंधित करना सीखना महत्वपूर्ण है।

तनाव चुनौतीपूर्ण स्थितियों में एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया है

मानव शरीर को कथित खतरों या चुनौतियों का जवाब देने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जब शरीर तनाव में होता है, तो यह एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन छोड़ता है जो शरीर को कथित खतरे का जवाब देने के लिए तैयार करते हैं। इस प्रतिक्रिया को “लड़ाई या उड़ान” प्रतिक्रिया के रूप में जाना जाता है और कुछ स्थितियों में ये फायदेमंद हो सकता है, जैसे कि जब किसी व्यक्ति को किसी खतरनाक स्थिति में तुरंत प्रतिक्रिया करने की आवश्यकता होती है।

कारकों की एक विस्तृत श्रृंखला के कारण हो सकता है

तनाव कई प्रकार के कारकों के कारण हो सकता है, जैसे काम, रिश्ते, वित्तीय मुद्दे और स्वास्थ्य समस्याएं। उदाहरण के लिए, एक व्यक्ति किसी मांगलिक कार्य, कठिन संबंध या वित्तीय समस्याओं के कारण तनाव का अनुभव कर सकता है। यह पुरानी बीमारी या चोट जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के कारण भी हो सकता है।

जब जोर दिया जाता है, तो शरीर एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन जारी करता है

जब कोई व्यक्ति तनाव में होता है, तो शरीर एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन जारी करता है, जो शरीर को कथित खतरे का जवाब देने के लिए तैयार करता है। ये हार्मोन हृदय गति, रक्तचाप और रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को भी प्रभावित कर सकते हैं।

कुछ तनाव फायदेमंद हो सकते हैं, लेकिन अत्यधिक तनाव के नकारात्मक प्रभाव हो सकते हैं

जबकि कुछ तनाव फायदेमंद हो सकते हैं, क्योंकि यह किसी व्यक्ति को कार्य करने के लिए प्रेरित कर सकता है, अत्यधिक तनाव व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। अत्यधिक तनाव से शारीरिक लक्षण जैसे सिरदर्द, थकान और मांसपेशियों में तनाव के साथ-साथ चिंता और अवसाद जैसे भावनात्मक लक्षण भी हो सकते हैं।

तनाव को कम करने में योग की भूमिका

तनाव को दूर करने में योग एक रामबाण की तरह साबित होता है। कुछ योगासन है, जिन्हे नियमित रुप से करने से तनाव कम किया जा सकता है जिसमें से एक सुखासन।
तनाव दूर करने के लिए सुखासन बहुत ही फायदेमंद होता है। रोजाना कम से कम दस मिनट तक इस योगासन को करने से आपका दिमाग शांत रहता है, जिससे तनाव दूर करने में सहायता मिलती है। आप का ध्यान केंद्रित होता है और एकाग्रता बढ़ती है। इसके नियमित अभ्यास से रक्तसंचार भी बेहतर होता है, जिससे हमारा शारीरिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।
इसके आलावा मार्जरी आसन, बालासन, शवासन भी तनाव को दूर करने में सहायक होते हैं।

इसके अतिरिक्त, एक स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखना, पर्याप्त नींद लेना और जरूरत पड़ने पर मदद लेना महत्वपूर्ण है।

सुपरफूड्स टू कॉम्बैट स्ट्रेस: ​​इन खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करने से तनाव कम करने में मदद मिल सकती है।

  • जटिल कार्बोहाइड्रेट: साबुत अनाज, शकरकंद और ब्राउन राइस
  • पत्तेदार साग: पालक और केल
  • जामुन: ब्लूबेरी, रसभरी और स्ट्रॉबेरी
  • मेवे और बीज: बादाम, अखरोट और कद्दू के बीज
  • दही
  • डार्क चॉकलेट
  • मछली: सामन और टूना
  • जड़ी-बूटियाँ और मसाले: अदरक, हल्दी, कैमोमाइल चाय, मेंहदी और तुलसी
  • खाना स्किप करने या ज्यादा खाने से बचें
  • संतुलित आहार लेना, नियमित भोजन बनाए रखना

नोट- ऊपर दी गई जानकारी व्यक्तिगत अनुभव के आधार पर है, इसका सेवन करने से पहले किसी चिकित्सक से सलाह जरूर ले।

Newsadda360 के Latest News अपडेट पाने के लिए हमारा Newsletter Subscribe करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *